Friday, February 3, 2023
Home > Politics News > हनुमानगढ़ विधानसभा बनी हॉटसीट

हनुमानगढ़ विधानसभा बनी हॉटसीट

hanumangard

हनुमानगढ़ । राजस्थान में अगले दस माह मे विधानसभा चुनाव होने जा रहा है। चुनाव को लेकर सभी राजनीतिक दलों ने अपनी—अपनी कमर कस ली है। चुनाव में खड़े होने को लेकर दावेदार इन दिनों ऐड़ी—चोटी का जोर लगा रहे हैं। हर नेता इस मे कवायद में जुटा हुआ है कि किस तरह से आलाकमान को संतुष्ट कर टिकट हासिल किया जा सके। इसी जद्दोजहद के चलते राजस्थान की कुछ सीटें इन दिनों चर्चाओं में छायी हुई है। ये सीटें आने वाले विधानसभा चुनाव के लिए हॉटसीट’ बनकर उभरी हैं, ऐसी ही एक सीट है हनुमानगढ़ विधान सभा सीट।

गौरतलब है कि हनुमानगढ़ विधानसभा क्षेत्र की सीट को लेकर इन दिनों राज्य के दो बड़े दलों के नेताओं के बीच कड़ी प्रतिस्पर्धा का माहौल बना हुआ है। इन दलों के नेताओं के द्वारा अपने—अपने स्तर से इस सीट पर दावेदारी पेश की जा रही है। यदि कांग्रेस पार्टी की ही बात करें तो हॉटसीट बनी हनुमानगढ़ विधानसभा सीट के लिए कांगे्रस की ओर से कई दावेदारों के नाम सामने आ रहे हैं। इनमें कांग्रेस के वरिष्ठ युवा नेता मनीष धारणिया का नाम काफी समय से चर्चा मे बना हुआ है

मनीष धारणिया के अलावा कांग्रेस के ही दिग्गज नेता पूर्वमत्री विनोद कुमार लिलावाली तो है ही पर राजेन्द्र गोदारा,राजेन्द्र मकासर जैसे नाम उभरकर सामने आये हैं। कांग्रेस के ये सभी नेता अपने—अपने स्तर से पूर्वमुख्यमंत्री व प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष सचिन पायलट के समक्ष अपनी अपनी दावेदारी पेश कर रहे हैं।

इन नेताओं की कोशिश यहीं पर ही नहीं थमेगी, सूत्र बताते हैं कि इनमें से ज्यादातर दावेदार राहुल गांधी और सोनिया गांधी तक से टिकटों की गुहार लगाएगे । कांग्रेस पार्टी के भीतर हनुमानगढ़ क्षेत्र से टिकट पाने की होड़ को लेकर इन दिनों काफी गहमा—गहमी का माहौल बना हुआ है।

वहीं यदि भारतीय जनता पार्टी की ही बात की जाये तो हनुमानगढ़ सीट को लेकर कांग्रेस की ही तरह भाजपा के बीच भी कमोबेश यही स्थिति बनी हुई नजर आ रही है। जहां एक ओर भाजपा के दिग्गज और मौजूद हनुमानगढ़ विधायक व केंबिनेट मत्री रामप्रताप दोबारा इस सीट से दावेदारी कर रहे हैं तो वहीं भाजपा के अन्य नेता इस सीट से अपना भाग्य आजमाने की जुगत में जुटे हुए हैं। किन्तु वर्तमान केबिनट मत्री रामप्रताप का पलड़ा अभी तक इन सभी दावेदारों पर भारी पड़ता नजर आ रहा है।

अब देखना ये होगा कि दोनों ही दलों के आलाकमान किसी दावेदार पर अपना भरोसा जताते हैं और किसे चुनावी मैदान में उतरने को हरी झण्डी दिखाते हैं। बहरहाल इस सीट पर मुकाबला दिलचस्प जरूर होगा

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *