Wednesday, December 7, 2022
Home > Business > भारत में जल्द आएगा क्रिप्टोकरेंसी बिल

भारत में जल्द आएगा क्रिप्टोकरेंसी बिल

Cryptocurrency

भारत के वित्त मंत्रालय ने एक नई समिति का गठन किया है जो यह पता करेगी कि क्या क्रिप्टो-ट्रेडिंग से होने वाली आय पर टैक्स लगाया जा सकता है। यह मुद्दा ऐसे समय में उठा है जब देश एक ऑफिशिअल क्रिप्टोकरेंसी बिल की घोषणा की प्रतीक्षा कर रहा है जिसे संसद के आने वाले विंटर सेशन में पेश किया जाएगा। जबकि भारत में क्रिप्टोकरेंसी में व्यापार में तेजी देखी गई है, देश के पास इसे रेगुलेट करने के लिए कोई ठोस कानून नहीं है।
हाल के महीनों में, भारत में क्रिप्टोकरेंसी स्पेस में विस्तार देखा गया है। इस महीने की शुरुआत में जारी एक रिपोर्ट के अनुसार भारत, पाकिस्तान, यूक्रेन और वियतनाम में क्रिप्टोकरेंसी अपनाने की दर में 880 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।
वित्त मंत्रालय द्वारा बनाई गई इस समिति को चार सप्ताह का समय दिया गया है। समय अवधि खत्म होने के बाद पैनल को यह बताना होगा कि क्या क्रिप्टोकरेंसी में ट्रेडिंग से होने वाली आय पर कैपिटल प्रोफिट के रूप में टैक्स लगाया जा सकता है या उन्हें एक नई बनाई गई टैक्स कैटेगरी के तहत क्लासिफाई करने की आवश्यकता होगी।

इस कमिटी द्वारा क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडिंग-आधारित आय पर टैक्सेशन एनालिसिस को कथित तौर पर Cryptocurrency Bill के अंतिम ड्राफ्ट में शामिल किया जाएगा। यानी Cryptocurrency Bill में भारत में क्रिप्टोकरेंसी ट्रेड की इनकम पर टैक्स लगाया जाएगा या नहीं, इस बारे में भी ड्राफ्ट में विस्तार से बताया जाएगा।

TechStory की एक रिपोर्ट के अनुसार, लगभग सात मिलियन भारतीयों ने क्रिप्टोकरेंसी में 1 बिलियन डॉलर से अधिक की सामूहिक राशि का निवेश किया है। बढ़ते क्रिप्टो-कल्चर के बीच, भारतीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण क्रिप्टोकरेंसी बिल के ड्राफ्ट को तैयार करने की अनदेखी कर रही हैं। इस बीच, भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) 2021 के अंत तक अपनी पहली ऑफिशिअल डिजिटल करेंसी को एक रेगुलेटेड “सैंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी (CBDC)” के रूप में लॉन्च करने पर भी काम कर रही है।

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *